Tuesday, November 22, 2016

भारत का कल कहाँ है?

एक क्लास में मैंने एक दिन एक बच्चे से पूछा भारत के बारे में चार लाइनें बोलो। शायद 11वीं या 12वीं की क्लास थी। बच्चे बड़े होनहार थे। उस बच्चे ने तपाक से भारत के बारे में चार लाइनें बोलीं। मेरे देश का नाम ... बड़ा महान...कश्मीर से कन्याकुमारी तक फैला...गांधी जी ने आजाद कराया था...नेहरू जी पहले प्रधानमंत्री थे...।

मैं अवाक रह गया। ये मेरे देश का परिचय है या मेरे देश का इतिहास? अगर ये परिचय है तो फिर इसमें आने वाले कल का हिंदुस्तान कहां है? 12वीं क्लास का बच्चा अगर देश के परिचय में आज के भारत की बात नहीं करता, कल के भारत को नहीं रखता, कल के भारत में अपनी भूमिका-अपनी उपयोगिता नहीं देखता, तो ये तो बड़ी गलती हो रही है। हम भावी भारत के नागरिक तैयार कर रहे हैं या इतिहास के शोधकर्ता?

1 comment:

  1. manish ji mera request hai ki aap govt school ke students feedback le ki konsa teacher unko acchi tarh se teach kar paa raha hai , teacher ke bhi report card banne chiye ki kitne student unke subject main 100% mile hai , garbage ko school se bahar kar de , hamane kai eise teacher dekhe jo sirf time pass karne atte hai , yakin nahi atta to govt school ke har room main khass kar staff room , cemera with aduio recard ki jai , to apko pata chalega ki school ka result kharb kyu ata hai , dhanyavad

    ReplyDelete